GuidePedia

0

                                     जैन और बौद्ध धर्म 

जैन और बौद्ध धर्म-technicalvkay.com

जैन धर्म 

  • जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव थे इन्हे इस धर्म का संस्थापक भी माना जाता है | 
  • जैन धर्म में कुल 24 तीर्थंकर हुए  | महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे | इन्हे जैन धर्म का वास्तविक संस्थापक माना जाता है | 
  • जैन धर्म में कर्मफल से छुटकारा पाने के लिए त्रिरतन का पालन आवश्यक माना गया है ये त्रिरतन -- 
            1 . सम्यक दर्शन 
            2 . सम्यक ज्ञान
            3 . सम्यक आचरण | 
  • जैन धर्म अनीशवरवादी है 
  • जैन साहित्य को 'आगम ' कहा जाता है  जिसमे 12 अंग, 12 उपंग, 10 प्रकीर्ण, 6 छेदसूत्र, 4 मूलसूत्र शामिल है | 

बौद्ध धर्म 

  •  बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुध थे | 
  • बुध के प्राम्भिक गुरु आलार कलाम एवम रुद्रक राजपुत्र थे | 
  • बुध के सारथि का नाम 'छंद ' तथा घोड़े का नाम 'कनथन ' था | 
  • गौतम बुध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ (ऋषिपतनम ) में दिया |  जिसे धर्मचक्रप्रवर्तन कहा गया है | 
  • बुध ने सर्वाधिक उपदेश कौशल की राजधानी श्रावस्ती ने दिए थे | 
  • बुध ने सांसारिक दुःखो के बारे में चार आर्य सत्य बताये है | ये है 
          1 . दुःख 
          2 . दुःख समुदय 
          3 . दुःख विशेष 
          4 . दुःख निरोध गामिनी प्रतिपदा | 
  • प्रतीत्यसमुत्पाद को गौतम बुध की शिक्षाओं का सार कहा गया है | 
  • बौद्ध चार्म अनीशवरवादी तथा अनात्मवादी है | 

Post a Comment

 
Top